टॉप 25 से बाहर हुए गौतम अडानी, मार्केट कैप आया 100 अरब डॉलर के नीचे

भारतीय उद्योगपति गौतम अडानी की हिंडेनबर्ग रिपोर्ट के बाद मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है. हिंडेनबर्ग की रिपोर्ट आने के बाद अडानी ग्रुप को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा रहा है.
Gautam Adani out of top 25, market cap came below $100 billion
Gautam Adani out of top 25, market cap came below $100 billion22/02/2023

अडानी के शेयरों में भी काफी गिरावट देखने को मिला है. गौतम अडानी के कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन घटकर करीब आधा हो गया है. इन सभी वजहों से अडानी के चेयरमैन गौतम अडानी दुनिया के अमीरों की सूची से बाहर हो चुके है. इस लिस्ट में गौतम अडानी का कद लगातार घटता जा रहा है. सोमवार को गौतम अडानी Bloomberg Billionaires List में वे 26 वें स्थान पर पहुँच गए है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मंगलवार को अडानी समूह की 10 कंपनियों का मार्केट कैप गिरकर 8,20,915 करोड़ रह गया है. हिंडनबर्ग की रिपोर्ट पब्लिश होने के बाद से अब तक अडानी समूह के कुल मार्किट कैपिटलाइजेशन में 133 अरब डॉलर की कमी आ चुकी है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक अडानी समूह के तीन बड़ी कंपनियों अडानी एंटरप्राइजेज (2.08 लाख करोड़ रुपये), अडानी ट्रांसमिशन (2.14 लाख करोड़ रुपये) और अडानी ग्रीन एनर्जी का मार्केट 2.13 लाख करोड़ रुपये दर्ज किया गया. हिडेनबर्ग की रिपोर्ट के बाद अडानी ग्रुप के इन तीन कंपनियों में से प्रत्येक का बाजार मूल्य करीब 2 लाख करोड़ रूपये से अध्क कम हो सकता है.

गौतम अडानी पिछले साल सितंबर 2022 में 155 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ गौतम अडानी दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति के पायदान तक पहुंचे थे. हालांकि गौतम अडानी को इस साल जनवरी के आखिरी दिनों में हिंडेनबर्ग रिपोर्ट के बाद काफी बड़ा झटका लगा है.

गौतम अडानी पिछले साल सितंबर 2022 में 155 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ गौतम अडानी दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति के पायदान तक पहुंचे थे. हालांकि गौतम अडानी को इस साल जनवरी के आखिरी दिनों में हिंडेनबर्ग रिपोर्ट के बाद काफी बड़ा झटका लगा है.

ब्लूमबर्ग बिलेनियर्स इंडेक्स की रिपोर्ट के मुताबिक अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी का कुल नेटवर्थ गिरकर 49.1अरब डॉलर रह गई है. गौतम अडानी की कुल संपत्ति पिछले सप्ताह मंगलवार को 52.4 अरब डॉलर थी. तीन कारोबारी दिनों में ही उनकी संपत्ति करीब 3 अरब डॉलर घटी है.

The mainstream media establishment doesn’t want us to survive, but you can help us continue running the show by making a voluntary contribution. Please pay an amount you are comfortable with; an amount you believe is the fair price for the content you have consumed to date.

happy to Help 9920654232@upi 

Related Stories

No stories found.
Buy Website Traffic
logo
The Public Press Journal
publicpressjournal.com