Children wanted the right playground while sitting in a wheelchair, if they could not help, they themselves raised $ 700,000
Children wanted the right playground while sitting in a wheelchair, if they could not help, they themselves raised $ 700,00014/03/2023

व्हीलचेयर पर बैठकर खेलने का सही मैदान चाहते थे बच्चे, मदद नहीं मिली तो खुद जुटा लिए 700,000 डॉलर

Minnesota के Glen Lake Elementary School के स्पेशली एबल्ड बच्चों के पास व्हीलचेयर पर बैठे बैठे खेलने के लिए मुफीद प्लेग्राउंड नहीं था. इस कमी की भरपाई के लिए जो रास्ता चुना गया, वो सबके लिए एक मिसाल बन गया.

कहते हैं न इरादे अगर नेक हों तो मंजिल खुद-ब-खुद अपना रास्ता आसान बना लेती है. यूएस के Minnesota के एक एलिमेंट्री स्कूल के बच्चे इसकी मिसाल हैं, जिन्होंने देखते ही देखते छह लाख डॉलर जुटा लिए हैं. एक नेक काम के लिए बच्चों ने इस मिशन को शुरू किया, जो अब बहुत जल्द पूरा होता दिखाई दे रहा है. यूएस टुडे के मुताबिक Minnesota के Glen Lake Elementary School के दिव्यांग बच्चों (Specially Abled Children) के पास व्हीलचेयर पर बैठे-बैठे खेलने के लिए मुफीद प्लेग्राउंड नहीं था. इस कमी की भरपाई के लिए, जो रास्ता चुना गया, वो सबके लिए एक मिसाल बन गया.

टीचर ने की पहल

स्कूल की ही एक टीचर Betsy Julien को एक दिन अचानक ये अहसास हुआ कि, स्पेशली एबल्ड बच्चों के लिए कोई ऐसा प्लेग्राउंड नहीं है, जहां वो व्हीलचेयर के साथ जा सके और खेल का भरपूर आनंद ले सके. इस ख्याल के साथ उन्होंने नया प्लेग्राउंड बनाने के लिए ग्रांट लेने पपर विचार किया. उन्हें ग्रांट तो मिली ही, साथ ही उन्होंने फंड रेज करने में बच्चों को भी शामिल किया. देखते ही देखते बच्चों ने 300,000 डॉलर रेज कर लिए.

बच्चों बने मिसाल

इस फंड से प्लेग्राउंड बनने का काम काफी कुछ पूरा हो चुका है, लेकिन अब कोशिश है कि एक मिलियन डॉलर तक जमा हो सकें, ताकि प्लेग्राउंड में किसी भी बच्चे के लिए कोई कमी न रह जाए. इस मकसद के साथ बच्चे अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर पंड रेज करने की कोशिश में जुटे हुए हैं. साथ ही अलग-अलग एक्टिविटी भी कर रहे हैं, ताकि पैसा जमा हो जाए. अपनी इन कोशिशों के चलते वो सात लाख डॉलर तक पहुंच ही चुके हैं. अपनी मेहनत से बन रहे प्लेग्राउंड को देखकर बच्चे बेहद खुश हैं. जहां स्पेशली एबल्ड बच्चे और आम बच्चे मिलजुलकर फिजिकल एक्टिविटी कर सकते हैं.

The mainstream media establishment doesn’t want us to survive, but you can help us continue running the show by making a voluntary contribution. Please pay an amount you are comfortable with; an amount you believe is the fair price for the content you have consumed to date.

happy to Help 9920654232@upi 

Related Stories

No stories found.
Buy Website Traffic
logo
The Public Press Journal
publicpressjournal.com