Pathaan को टक्कर देने आज रिलीज होगी हंसल मेहता की Faraaz, रियल घटना पर बनी है फिल्म, विवादों में भी घिरी

शाहरुख खान की 'पठान' को 'फराज' से मिलेगी टक्कर
Hansal Mehta's Faraaz to be released today to compete with Pathaan
Hansal Mehta's Faraaz to be released today to compete with Pathaan03/.02/2023

दीपिका पादुकोण, जॉन अब्राहम और शाहरुख खान स्टारर ‘पठान’ (Pathaan Box Office Collection) को बॉक्स ऑफिस पर 9 दिन हो गए है. फिल्म को ऑडियंस से अच्छा रिस्पांस मिल रहा है. फिल्म ने ओपनिंग डे पर 55 करोड़ रुपए का कलेक्शन किया था. फिल्म पहले ही दिन से रिकॉर्ड तोड़ कमाई कर रही है और कई इतिहास रही है. इस बीच ‘पठान’ को टक्कर देने उतरी राजुकमार संतोषी ‘गांधी गोडसेः एक युद्ध’ 26 जनवरी को रिलीज हुई. लेकिन फिल्म ‘पठान’ के सामने नहीं टिक पाई. फिल्म को ओपनिंग डे पर 80 लाख और दूसरे दिन 34 लाख रुपए की कमाई हुई. इसके बाद फिल्म की स्क्रीनिंग और कमाई भी कम हो गई.

अब शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) की ‘पठान’ को टक्कर देने के लिए बॉलीवुड के दिग्गज फिल्ममेकर और नेशनल अवॉर्ड विनिंग डायरेक्टर हंसल मेहता और अनुभव सिन्हा की फिल्म उतरेगी. फिल्म का नाम ‘फराज’ (Faraaz Release Date) है. फराज एक रियल घटना पर आधारित है. यह फिल्म साल 2016 में बांग्लादेश की राजधानी ढाका में हुए आतंकी हमलों पर आधारित है. फिल्म में कई प्रतिभाशाली कलाकार हैं.

‘फराज’ को हंसल मेहता ने डायरेक्ट किया और इसके प्रोड्यूसर अनुभव सिन्हा है. फिल्म का ट्रेलर दो हफ्ते पहले जारी किया गया था, जिसे ऑडियंस और क्रिटिक्स ने खूब सराहा है. हंसल मेहता अपने फिल्में बनाने के अंदाज के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने शाहिद, ओमेत्रा, छलांग जैसी कई सुपरहिट फिल्में दी हैं. उन्होंने ‘स्कैम 1992’ वेब सीरीज बनाकर खूब वाहवाही बटोरी थी.

'पठान' बाकी हिंदी फिल्मों से क्यों है अलग? ये हैं 5 कारणआगे देखें...

अब ‘फराज’ से भी उन्हें काफी उम्मीदें हैं. लेकिन ‘पठान’ का ‘तूफान’ बॉक्स ऑफिस पर अब भी बरकरार है. ‘पठान’ ने 8 दिनों में भारत में 336 करोड़ रुपए का बिजनेस कर लिया है. जबकि फिल्म का ओवरसीज कलेक्शन 667 करोड़ रुपए का हो गया है. फिल्म ने बुधवार 17.50 करोड़ रुपए का कलेक्शन किया. रिलीज के 8वें दिन भी इतना कलेक्शन पठान के लिए बड़ी बात है. इतना तो कई फिल्मों का ओपनिंग डे कलेक्शन भी नहीं होता है

The mainstream media establishment doesn’t want us to survive, but you can help us continue running the show by making a voluntary contribution. Please pay an amount you are comfortable with; an amount you believe is the fair price for the content you have consumed to date.

happy to Help 9920654232@upi 

Related Stories

No stories found.
Buy Website Traffic
logo
The Public Press Journal
publicpressjournal.com